कुमाऊँ

कूड़े का शहर नैनीताल,कूड़ेदान फूल,जंगलो में फेंका कूड़ा समा रहा है झील में

नैनीताल। पर्यटन सीजन लगभग अंतिम चरणों में पहूंच चुका है।जिसके चलते हर रोज हजरो की संख्या में देश के अलग-अलग कौनो से सैलनी नैनिताल घूमने आ रहे है ऐसे में नगर के विभन्न क्षेत्रो में कूड़े का अंबार लगा हुआ है।जिससे स्थानीय लोगो सहित सैलानियों को भी नाक में रुमाल रख निकलना पड़ रहा है।हालांकि पालिका द्वारा जगह जगह कूड़ेदान रखे गए है।लेकिन उनके भर जाने के बाद अब कूड़ा बाहर फेका जा रहा है और आवारा जानवर उस कूड़े को पूरे क्षेत्र में फैला रहे है जिससे दुर्गंध के साथ साथ दुपहिया वाहनों को दुर्घटना का भय बना हुआ है।

डोर टु डोर कलेक्शन भी नही उठा रही कूड़ा।डोर टू डोर कुडा कलेक्शन के लिए पालिका ने टेंडर दिया है लेकिन उसके वावजूद बीते दो माह से घरों से कूड़ा नही उठाया जा रहा है।जिसके चलते जगह-जगह  कूड़े का ढेर लग रहा है।वही घरों से कूड़ा नही उठाये जाने के बाद अब लोगो ने मजबूरी में कूड़ा जंगलो में फेकना शुरू कर दिया है जो कि अब बरसात के दौरान नालों के जरिये झील में समाने लगा है।वही व्यापारियों का कहना है कि डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के लिए उनके द्वारा पालिका को शुल्क दिया जा रहा है उसके बावजूद उनके प्रतिष्ठानों से कुडा नही उठाया जा रहा है

To Top

You cannot copy content of this page