कुमाऊँ

तेज बारिश से नगर में कई स्थानों पर भूस्खलन,झील का जलस्तर पंहुचा 11 फिट के पार,10 इंच हुई निकासी

नैनीताल। रविवार देर रात हुई भारी बारिश से नगर के कई स्थानों पर भूस्खलन होने से जन जीवन अस्त ब्यस्त हो गया।वही झील का जलस्तर भी काफी बढ़ गया है।रविवार देर रात हुई मूसलधार बारिश से नगर के समीपवर्ती क्षेत्र नारायण नगर में बॉटनिकल गार्डन के समीप सड़क का एक बड़ा हिस्सा ध्वस्त हो गया।जिसको लेकर स्थानीय सभासद भगवत रावत ने डीएम से मुलाकात की जिसपर जिलाधिकारी ने  संबंधित विभाग से जल्द से जल्द सड़क मार्ग को ठीक करने की निर्देश दिए। लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता जीएस जनोटी ने बताया कि लगभग 15 मीटर एरिया में भूस्खलन हुआ है सड़क के किनारे वाहनों की सुरक्षा के लिए सुरक्षा दीवार लगा दी गई है बाकी जल्द ही निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा।आगे पढ़ें…..

वही कृष्णपुर में भू-कटाव होने से भवान सिंह का मकान खतरे की जद में आ चुका है।जिसको लेकर स्थानीय सभासद कैलाश रौतेला ने डीएम वंदना को ज्ञापन भी सौपा है।जिसपर डीएम ने ईओ आलोक उनियाल से रिपोर्ट मांगी है।तथा नगर के मल्लीताल क्षेत्र के पिछाड़ी बाजार में भी तेज बारिश का पानी लोगो के घरों में गुसने से लोगो की फजीहत हो गयी।हालांकि सोमवार को सुबह से नगर में धूप-छांव का खेल चलता रहा।लेकिन फिर भी लोगो में भय का माहौल बना हुआ है।तेज बारिश से नैनीझील का जलस्तर भी 11 फिट के पर पहूंच चुका था।जिसके बाद निकासी भी शुरू कर दी गयी थी।आगे पढ़ें….

यह भी पढ़ें 👉  मोदी सरकार 3.0 गरीब, युवा,अन्नदाता व नारी शक्ति के उत्थान के लिए समर्पित:राहुल जोशी

मानसून सीजन में दूसरी बार की गई पानी की निकासी।सरोवर नगरी में लगातार बरसात हो रही है जिससे नैनी झील का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है।मौसम विज्ञान केंद्र जीआईसी के अनुसार रविवार देर रात हुई मूसलधार बारिश से नैनीझील का जलस्तर 11 फिट से ऊपर पहूंच गया था,जिसके बाद दोनों गेट खोल कर करीब 10 इंच पानी की निकासी की गई।इससे पूर्व 18 जुलाई को भी तीन इंच की निकासी की गई थी।झील नियंत्रण कक्ष के सुपरवाइजर रमेश गैंडा के अनुसार पूर्व में खूब ज्यादा बारिश हुआ करती थी जिसके चलते जून में ही झील से पानी की निकासी शुरू कर दी जाती थी, मगर कुछ सालों से बारिश कम होने के कारण झीलों की निकासी देर से शुरू हो रही है,2015 में जुलाई में झील से पानी की निकासी की गई थी इसके 8 साल बाद इस बार निकासी की जा रही है।

To Top

You cannot copy content of this page