धर्म-संस्कृति

121वें नंदा देवी महोत्सव की तैयारिया पूरी,20 से 27 सितंबर तक भव्य रूप से होगा महोत्सव का आयोजन

नैनीताल। 20 से 27 सितंबर तक आयोजित 121वां नंदा देवी महोत्सव की तैयारियां लगभग अपनी चरम सीमा पर पहूंच चुकी है। जिसको लेकर सोमवार को आयोजन समिति राम सेवक सभा द्वारा प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया।सभा के महासचिव जगदीश बवाड़ी ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी महोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा।जिसकी तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी है।कहा कि 20 सितंबर को राम सेवक सभा प्रांगण में  मुख्य अतिथि सांसद अजय भट्ट व विधायक सरिता आर्या द्वारा महोत्सव का उद्घाटन किया जाएगा।इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी होगा जिसके बाद कदली वृक्ष लाने के लिए टीम रवाना होगी। बता दे कि इस वर्ष मूर्ति निर्माण के लिए कदली वृक्ष चंद्रावती कॉलोनी हल्द्वानी से लाया जा रहा है।आगे पढ़ें

21 सितंबर को हल्द्वानी से कदली वृक्ष रूसी बाईपास होते हुए सूखाताल लाया जाएगा जहां पर पूजा अर्चना होगी।वही तल्लीताल वैष्णो देवी मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना के बाद कदली वृक्ष का नगर भ्रमण होगा अंत में नयना देवी मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना के बाद मूर्ति निर्माण के लिए वृक्ष को सेवा समिति भवन में रखा जाएगा। तथा 22 सितंबर को मूर्ति निर्माण होगा और इसी दिन राम सेवक सभा प्रांगण में स्कूली बच्चों की क्विज प्रतियोगिता व लोकगीत प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाएगा।आगे पढ़ें

यह भी पढ़ें 👉  भारी मतों से जीत दर्ज करने वाले अजय भट्ट सहित तीन को नही मिली कैबिनेट में जगह

23 सितंबर अष्टमी को ब्रह्म मुहूर्त में प्राण प्रतिष्ठा के बाद मां नंदा-सुनंदा की मूर्तियों को श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए नयना देवी मंदिर में रखा जाएगा। जिसके बाद 23 सितंबर से 26 सितंबर तक हर रोज मंदिर परिसर में 6 बजे पंच आरती,प्रसाद वितरण व रात को देवी पूजन तथा देवी भोग होगा। 24 सितंबर नवमी को सुबह दुर्गा सप्तमी पाठ एवं हवन दोपहर को कन्या पूजन के बाद डीएसए मैदान में विशाल भंडारे का आयोजन किया होगा। 25 सितंबर को दो बजे से नंदा चालीसा व भजन तथा शाम को नैनी झील में दीपदान किया जाएगा। 26 सितंबर को सुंदरकांड तथा 27 सितंबर को सुबह देवी पूजन के बाद दोपहर 12 बजे से नगर में मां नंदा सुनंदा का डोला भ्रमण होगा जिसके बाद शाम को गोल्ज्यू मंदिर के समीप मां नंदा सुनंदा की मूर्तियों को विसर्जित किया जाएगा। डोला भ्रमण के दौरान नगर के विभिन्न स्कूली बच्चों द्वारा झांकियां निकाली जाएंगी तथा छोलिया नृत्य व स्थानीय महिलाओं का झोड़ा आकर्षण का केंद्र रहेगा। इस दौरान मुकेश जोशी,मुकुल जोशी,ललित साह, राजेंद्र सिंह बिष्ट,विमल चौधरी,भूपेंद्र बिष्ट,गोधन सिंह,प्रो ललित तिवारी आदि मौजूद रहे।

To Top

You cannot copy content of this page