शिक्षा

अगले जन्म में भी बनना चाहूंगी शिक्षक: राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित जीजीआईसी नैनीताल की प्रधानाचार्य सावत्री दुग्ताल हुई सेवानिवृत्त

नैनीताल। राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित जीव विज्ञान की उत्कृष्ट शिक्षिका जीजीआईसी की प्रधानाचार्य सावत्री दुग्ताल का रविवार 31 जुलाई को कार्यकाल पूरा हो रहा है। शनिवार को विद्यालय परिवार ने उनके सेवानिवृत्त होने पर उनको भावभीनी विदाई दी। इस दौरान कर्मचारियों सहित शिक्षिकाओं व छात्राओं की आंखें भी नम हो चुकी थी।और हो भी क्यों नही उंन्होने हमेशा ही विद्यायल,छात्राओं,कर्मचारियों व शिक्षिकाओं के हित में कार्य किया।

विदाई समारोह में प्रधानाचार्य सावित्री ने भावुक होते हुए कहा कि अगर अगला जन्म होता है तो में अगले जन्म में भी प्राइमरी स्कूल की शिक्षिका बनना चाहूंगी। साथ ही उन्होंने स्कूल की छात्राओं कर्मचारियों व शिक्षिकाओं का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उनको हमेशा सभी का भरपूर सहयोग मिला।

यह भी पढ़ें 👉  दो साल बाद सैलानियों के लिए खुला जिम कॉर्बेट द्वारा बनवाया गया बैंडस्टैंड

विदाई समारोह में प्रधानाचार्य सावित्री दुग्ताल के भाई व बीडी पांडे अस्प्ताल के वरिष्ठ फिजीशियन डॉक्टर एम एस दुग्ताल,समाजसेवी सरस्वती खेतवाल आदी मौजूद रहे।

To Top

You cannot copy content of this page