शिक्षा

दून विश्वविद्यालय और कुमाऊं विश्वविद्यालय के बीच उच्च शिक्षा में गुणात्मक सुधार हेतु महत्वपूर्ण चर्चा

नैनीताल। दून विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो.सुरेखा डंगवाल ने शुक्रवार को कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में कुलपति प्रो. दीवान एस रावत से मुलाकात की। इस बैठक का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड राज्य के उच्च शिक्षण संस्थानों में शिक्षा, प्रसार, अनुसंधान, और नवाचार के क्षेत्र में गुणात्मक सुधार पर विस्तृत चर्चा करना था।बैठक के दौरान, प्रो. सुरेखा डंगवाल ने माननीय राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह से प्राप्त दिशानिर्देशों के तहत राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के उत्तराखंड राज्य में चरणबद्ध तरीके से प्रभावी क्रियान्वयन के रोडमैप पर विचार-विमर्श किया। दोनों कुलपतियों ने मिलकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के तहत शिक्षण संस्थानों में सुधार और विकास के लिए विभिन्न रणनीतियों पर चर्चा की।इसके अतिरिक्त, दोनों कुलपति शीघ्र ही दोनों संस्थानों के बीच अनुसंधान और नवाचार को बढ़ावा देने के लिए फिजिकल साइंस के विषय जैसे केमिस्ट्री, फिजिक्स, और मैथमेटिक्स में एमओयू करने पर सहमत हुए। इस एमओयू के माध्यम से दोनों विश्वविद्यालय मिलकर नए शोध प्रोजेक्ट्स, नवाचार कार्यक्रम, और उच्च गुणवत्ता वाले शिक्षा कार्यक्रम शुरू करेंगे।आगे पढ़ें

यह भी पढ़ें 👉  तल्लीताल टैक्सी यूनियन के रमेश चंद जोशी बने अध्यक्ष

इस अवसर पर कुलपति प्रो. दीवान एस रावत ने कहा कि यह एमओयू उत्तराखंड राज्य के उच्च शिक्षा संस्थानों में अनुसंधान की गुणवत्ता को बढ़ाने और नवाचार को प्रोत्साहित करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा। कुलपति प्रो. सुरेखा डंगवाल ने कहा कि इस समझौते के माध्यम से दोनों विश्वविद्यालय फिजिकल साइंस के विषयों में अनुसंधान कार्यों को प्रोत्साहित करेंगे साथ ही शैक्षणिक आदान-प्रदान को भी बढ़ावा देंगे।बैठक में दोनों कुलपति ने शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग को और मजबूत करने और छात्रों एवं शोधार्थियों को उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा और अनुसंधान सुविधाएँ प्रदान करने की अपनी प्रतिबद्धता को पुनः पुष्ट किया।

To Top

You cannot copy content of this page