कुमाऊँ

भीमताल में विकास:बीमार महिला को डोली से लाया गया सड़क मार्ग तक

भीमताल। मुख्य मार्ग से लगभग पांच किमी दुर धारी ब्लॉक के ग्राम पंचायत बबियाड तोक बिरसिंग्या आज भी सड़क मार्ग से वंचित है।ग्रामीणों का कहना है कि क्षेत्र के प्रतिनिधि व राजनीतिक नेताओं ने इस सड़क को चुनावी मुद्दा बना रखा है।वही सरकार कहती है हर गांव कक सड़क से जोड़गें वही यहां के ग्रामीण आज भी सड़क के सपने देख रहे है।आगे पढ़ें

ग्रामीणों का कहना है कि विधायक राम सिंह कैडा विधायक बनने से पहले गांव पहुंचे और गांव वालो से वादा भी किया था कि विधायक बनते ही सबसे पहले मे गांव गाडी ले आऊगा।जब विधायक बने तो उसके बाद विधायक निधि से दो किलोमीटर सड़क कटवाने का ऐलान किया जैसे ही सड़क कटवाने लगे तो वन विभाग के अधिकारियों ने सड़क रुकवा दि उनका कहना है कि पहले हमें पेड़ों की क्षतिपूर्ति जमा की जाए तब आपकी सड़क कटेगी तब से अभी तक राजनीति का मुद्दा बना हुआ है। जब पहली बार जिलाधिकारी सविन बंसल गांव पहूंचेतो उन्होंने सड़क को जिला स्तर से राज्य सेक्टर में ट्रांसफर की थी लोगों के उनके ऊपर बहुत आस थी लेकिन अभी तक तश के जस रह गया है। वही छात्रों को स्कूल जाने के लिए 12 किलोमीटर दूर पैदल जाना पड़ता है खेतों के कच्ची फसल खेत में ही सड़ जाती है जब कोई बीमार होता है तो उन्हें डोली में मुख्य मार्ग तक ले जाया जाता है।आगे पढ़ें…..

यह भी पढ़ें 👉  बिशप शॉ इंटर कॉलेज में एकदिवसीय स्काउट गाइड शिविर का आयोजन

बुधवार को एक महिला मोहनी देवी की अचानक तबीयत खराब हो गई उसे मुख्य मार्ग में गांव के ग्रामीणों द्वारा अपनी जान को हथेली में रखकर लकड़ी की डोली से सड़क मार्ग तक लेकर आए गनीमत रही कि इस दौरान कोई अनहोनी नहीं हुई। वही एक बार फिर से ग्रामीण क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों से नाराज है सामाजिक कार्यकर्ता-रमेश चंद्र टम्टा, मनोज कुमार, युवा नेता वेद प्रकाश,शुभाष,देवेश चन्द्र, अनिल कुमार, ललित मोहन,विद्या सागर आदि ने अपनी नाराजगी व्यक्त की है।

To Top

You cannot copy content of this page