शिक्षा

गुरुजनों के मार्ग दर्शन से युवाओं का उज्वल भविष्य संभव,ग्राफिक एरा में दो दिवसीय सेमिनार संपन्न

नैनीताल । उच्च शिक्षा के बिना बेहतर भविष्य की कल्पना नही की जा सकती।  गुरुजनों के बेहतर मार्ग दर्शन से युवाओं का उज्वल भविष्य संभव है। यह विचार ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी भीमताल परिसर में आयोजित  तकनीकी एवं रक्षा प्रौद्यौगिकी  कैरियर गाइडेंस सेमिनार के तहत पर दो दिवसीय कार्यशाला में उभर कर सामने आए। आगे पढ़ें…..

परिसर निदेशक कर्नल अनिल कुमार नायर ने सेमिनार की अध्यक्षता करते हुए कहा कि यह वैश्विक शिक्षा का दौर हैऔर युवाओं को खुद को साबित करने के लिए बहुआयामी दृष्टिकोण अपनाना होगा। बेहतर कैरियर को लेकर वर्तमान में अनेक शिक्षण संस्थान सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। जिनका विद्यार्थी सहयोग लेकर बेहतर भविष्य की ओर अग्रसर हो सकते हैं। भारतीय शहीद सैनिक विद्यालय नैनीताल, जीबी पंत इंटर कॉलेज भवाली, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज भीमताल, लेक्स इंटरनेशनल स्कूल भीमताल और मल्लिकार्जुन विद्यालय भीमताल के कक्षा 12 वीं के छात्र-छात्राओं ने सेमिनार में भाग लिया। इस मौके पर विद्यार्थियों ने  रक्षा प्रौद्योगिकी को लेकर जानकारी हासिल की।आगे पढ़ें….

यह भी पढ़ें 👉  15 जून भीमताल भवाली,ज्योलिकोट व भूमियाधार के सभी स्कूलों में अवकाश

ग्राफिक एरा डीम्ड टू बी विश्वविद्यालय के एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष डॉ. सुधीर जोशी ने एरो स्पेस इंजीनियरिंग और एविएशन विज्ञान में भविष्य की संभावनाओं से विद्यार्थियों को रूबरू किया। डॉ. एसके मिश्रा ने भारतीय मिशाइल कार्यक्रम के ऐतिहासिक पहलुओं को उजागर करते हुए अग्नि, पृथ्वी और ब्रह्मोस मिसाइल परीक्षण कार्यक्रम के वैज्ञानिक पहलुओं (डिजाइनिंग एवं प्रेक्षण) पर प्रकाश डाला।   रोबोटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, थ्री डी प्रिंटिंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, क्लाउड तकनीकी,  ऊर्जा संचयन, टेस्ला कार, उन्नत धातुओं आदि में भविष्य की संभावनाओं से अवगत कराया। कार्यक्रम में समन्वयक डॉ. डीएस रावत, विभागाध्यक्ष एलाइड साइंसेस डॉ मेहुल मानू, गोविंद सिंह जेठी, तमन्ना गंगोला,दिनेश राठौर, अरुण जोशी, रेणु बिष्ट, मुक्ता चौधरी आदि मौजूद रहे।

To Top

You cannot copy content of this page