कुमाऊँ

नशे के खिलाफ 400 महिला-पुरुषों ने लगाई दौड़

हल्द्वानी/काठगोदाम। रविवार को काठगोदाम हाफ मैराथन  श्री राम मैरिज हॉल गौलापार काठगोदाम में शुरु हुईं. इस संस्करण की थीम ड्रग दुरूपयोग के खिलाफ दौड़ें रखा गया था. जिसमे  लगभग 400 पुरुष और महिला प्रतिभागी इस संस्करण में भाग लिया। इस दौरान खिलाड़ियों ने मैराथन के माध्यम से नशा मुक्ति का संदेश दिया।आगे पढ़ें….

इस दौरान पीसी कुशवाहा, संस्थापक-थ्रिल जोन ने कहा कि एक अच्छे समाज के लिए सबका स्वस्थ शरीर होना जरूरी है। स्वस्थ मन, वचन एवं कर्म के लिए मनुष्य का निरोगी होना जरूरी है। मुझे खुशी है कि प्रतिभागियों ने काठगोदाम में आज आयोजित हुई काठगोदाम हाफ मैराथन 2023 में  बाद चढ़ कर उत्साह पूर्वक भाग लिया। इस वर्ष दून मानसून दौड़ की थीम ड्रग दुरूपयोग  के खिलाफ दौड़ें रखा गया। जो कि  लोगों को जागरूक करेगी उन्हें अपने जीवन में कोई भी ड्रग  नहीं लेनी चाहिए। और दूसरों को भी इस बात के लिए जागरूक करेंगे  कि वे ड्रग का उपयोग न करें और स्वस्थ जीवन जियें। पूरे भारत में पिछले 8 वर्षों में थ्रिल जोन का यह 102वां आयोजन हो रहा है। मैराथन में खिलाड़ियों ने 21 किमी (समयबद्ध दौड़), 10 किमी (समयबद्ध दौड़) और 5 किमी (गैर-समयबद्ध दौड़) वर्गों में भाग लिया।आगे पढ़ें

यह भी पढ़ें 👉  शुक्रवार ज्येष्ठ पूर्णिमा पर्व लक्ष्मी पूजन से दरिद्रता का होता है नाश: ज्योतिषाचार्य डॉ.मंजू जोशी

21 किमी (समयबद्ध दौड़) के विजेता।18 से 30 वर्ष आयु वर्ग में पुरुष रनजीत सिंह बिष्ट और महिला में गरिमा शर्मा विजेता रहे। 31 से 40 वर्ष आयु वर्ग में पुरुष सतीश शर्मा   और महिला में आयुषी कनवाल   विजेता रहे। आगे पढ़ें

10 किमी (समयबद्ध दौड़) के विजेता।18 वर्ष आयु वर्ग में पुरुष वर्ग में हिफ़जान खान और महिला वर्ग में आसीमा राणा विजेता रहे। 19 से 30 वर्ष आयु वर्ग में पुरुष वर्ग में पवन विजेता रहे।आगे पढ़ें….

31 से 40 वर्ष आयु वर्ग में पुरुष वर्ग में आशीष पाण्डे और महिला वर्ग में बबिता विजेता रहे। 41 से 50 वर्ष आयु वर्ग में पुरुष वर्ग में नंदन सिंह और महिला वर्ग में शिवकर विजेता रहे। 51 से 60 वर्ष आयु वर्ग में पुरुष वर्ग में शेखर त्रिपाठी और महिला वर्ग में मुन्नी जोशी विजेता रहे। 61+ वर्ष आयु वर्ग में पुरुष वर्ग में जावेन्दर सिंह बिष्ट विजेता रहे।

To Top

You cannot copy content of this page